प्रदेशयूपी एवं उत्तराखंड

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में बवाल, होली खेल रहे छात्रों को पीटा

अलीगढ़ : उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में गुरुवार को होली खेलने के दौरान बवाल हो गया. आरोप है कि होली खेल रहे छात्रों से एक धर्म विशेष के छात्रों द्वारा मारपीट की गई. इसका वीडियो भी सामने आया है, जिसमें दिखाई दे रहा है कि होली खेल रहे कुछ लड़कों की पिटाई की जा रही है. इसी वीडियो को देखने के बाद छात्रों का गुस्सा फूट पड़ा और वह हंगामा करने लगे. बवाल बढ़ने की आशंका को देखते हुए कई थानों की पुलिस फोर्स को यूनिवर्सिटी के बाहर तैनात कर दिया गया.

छात्र आदित्य प्रताप सिंह का आरोप है कि वह होली खेलने के लिए AMU कैंपस के इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट में पहुंचे थे, तभी वहां पर बड़ी तादाद में धर्म विशेष के छात्र आ गए और उन लोगों की पिटाई करनी शुरू कर दी. AMU से मास्टर्स की पढ़ाई कर रहे आदित्य ने बताया कि जैसे-तैसे कर वह लोग अपनी जान बचाकर इधर-उधर भागे. आदित्य ने कहा कि अगर समय रहते अलीगढ़ SSP पुलिस फोर्स के साथ न पहुंचते तो कोई बड़ी अनहोनी हो जाती.

वहीं छात्रों के साथ मारपीट की घटना के बाद बड़ी तादाद में छात्र सिविल लाइन थाने पहुंचे. छात्रों ने थाने का घेराव करते हुए मारपीट करने वाले आरोपी छात्रों की गिरफ्तारी की मांग की. उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए, अन्यथा की स्थिति में छात्र थाने पर ही धरना-प्रदर्शन शुरू कर देंगे.

वहीं घटना को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर वसीम अली ने कहा कि होली खेल रहे छात्रों के साथ मारपीट करने वाले छात्रों को चिन्हित किया जा रहा है. उसी के आधार पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. वहीं SP अमृत जल ने बताया कि छात्र आदित्य प्रताप सिंह के द्वारा तहरीर दी गई है. तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है. CCTV फुटेज की जांच कर आरोपी छात्रों की गिरफ्तारी की जाएगी.

वहीं घटना पर AMU के पूर्व छात्र डॉ. निशित शर्मा ने कहा कि यह अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में कोई पहली घटना नहीं है. इससे पूर्व में भी कई बार छात्रों के साथ इस तरीके की घटनाएं प्रकाश में आई हैं. AMU के अंदर ऐसे छात्र रहते हैं, जिनका यूनिवर्सिटी से कोई लेना-देना नहीं है. वह गलत गतिविधियों में लिफ्त रहते हैं. आज भी कैंपस में इन्हीं छात्रों द्वारा मारपीट की घटना को अंजाम दिया गया. अगर इन पर कार्रवाई नहीं की गई तो हम लोग आंदोलन को मजबूर होंगे.

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *