देश-विदेशराजनीति

एथिक्स कमेटी में महुआ मोइत्रा से ‘बेहद निजी’ सवालों के आरोप, विपक्षी सांसदों का वॉकआउट

नई दिल्ली : भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने तृणमूल कांग्रेस की महिला सांसद महुआ मोइत्रा पर संसद में सवाल के बदले पैसे लेने के आरोप लगाए हैं। इस मामले में लोक सभा की एथिक्स कमेटी जांच कर रही है। गुरुवार को पूछताछ के लिए समिति के सामने पेश हुईं महुआ मोइत्रा का आरोप है कि समिति में पूछताछ के दौरान उनसे आपत्तिजनक और बेहद निजी सवाल पूछे गए।

महुआ के साथ दूसरे विपक्षी सांसदों का भी वॉकआउट : लोक सभा की आचार समिति की बैठक के बारे में समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक निजी सवालों के विरोध में महुआ मोइत्रा के साथ दूसरे विपक्षी सदस्यों ने भी बैठक का बहिष्कार किया। समिति के सवालों का विरोध करते हुए महुआ के साथ विपक्षी सांसदों ने सामूहिक वॉकआउट किया। विपक्षी दलों के सांसदों ने बैठक के संचालन के तरीके पर सवाल उठाए।

समिति के अध्यक्ष भाजपा सांसद, महुआ से पूछे निजी और अनैतिक सवाल : लोकसभा आचार समिति की बैठक पर पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक विपक्षी सदस्यों ने पैनल प्रमुख- विनोद कुमार सोनकर पर टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा से व्यक्तिगत, अनैतिक सवाल पूछने के गंभीर आरोप लगाए। खबर के अनुसार, विपक्षी सदस्यों, टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के हंगामे के बाद भी लोकसभा आचार समिति ने विचार-विमर्श जारी रखा। बता दें कि भाजपा सांसद सोनकर उत्तर प्रदेश की कौशाम्बी लोकसभा सीट से सांसद हैं।

सवाल के बदले पैसे लेने के आरोप बेबुनियाद : संसदीय समिति के समक्ष पेशी से पहले तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा ने रिश्वतखोरी के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि वकील जय अनंत देहाद्राई दुश्मनी के कारण संसद में सवाल के बदले पैसे लेने के बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। गुरुवार को महुआ ने खुद को निर्दोष बताया और संसदीय समिति से कहा, आरोप देहाद्राई की दुश्मनी से प्रेरित है। पीटीआई सूत्रों ने बताया कि उनके साथ उनके निजी संबंध हैं।

कांग्रेस और बसपा सांसदों का समर्थन मिला : बैठक में महुआ मोइत्रा को तेलंगाना कांग्रेस के एन उत्तम कुमार रेड्डी और बहुजन समाज पार्टी के दानिश अली सहित कुछ विपक्षी सांसदों का समर्थन मिला। हालांकि, मध्य प्रदेश भाजपा प्रमुख और सांसद वीडी शर्मा सहित कुछ भाजपा सदस्य चाहते थे कि महुआ आरोपों के मूल भाग का जवाब दें। सूत्रों ने कहा कि लोकसभा की आचार समिति के समक्ष उनके बयान का एक बड़ा हिस्सा देहाद्राई के साथ उनके संबंधों के बारे में था। महुआ लीक और आरोपों के लिए उन्हें दोषी ठहराती नजर आईं।

हीरानंदानी से लिंक पर महुआ का बयान : तृणमूल कांग्रेस सांसद ने दावा किया है कि व्यापारिक समूह की उनकी तीखी आलोचना के कारण “फर्जी” आरोपों के पीछे अदाणी समूह का हाथ है। महुआ पहले भी साफ कर चुकी हैं कि भले ही उन्होंने लोक सभा सांसद के लॉग-इन क्रेडेंशियल्स कारोबारी दर्शन हीरानंदानी के साथ शेयर किए हों, लोक सभा में अदाणी से जुड़े तमाम सवाल उन्होंने खुद पूछे हैं। इसके बदले पैसे या उपहार नहीं लिए गए हैं।

महुआ ने बिजनेसमैन के कहने पर सवाल किया : वकील देहाद्राई की दलील का हवाला देते हुए, भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने महुआ के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के पास शिकायत दर्ज कराई है। बिरला ने मामले को आचार समिति को भेज दिया। बता दें कि मोइत्रा पर एक प्रसिद्ध व्यापारिक परिवार के वंशज से रिश्वत और लाभ के बदले में सवाल पूछने के आरोप हैं। भाजपा सांसद का कहना है कि महुआ ने लोक सभा में व्यवसायी दर्शन हीरानंदानी के आदेश पर सवाल पूछे।

Plz Download the App for Latest Updated News : NewsXpoz 

Posted & Updated by : Rajeev Sinha 

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *