कारोबार

FY2024 Q4 GDP : चौथी तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.8% की दर से बढ़ी

नई दिल्ली : चुनावी नतीजों से पहले सरकार को बड़ी खुशखबरी मिली है. सांख्यिकी और कार्यक्रम मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.8% की दर से बढ़ी है. उसने अपनी रिपोर्ट में जीडीपी के ग्रोथ का भी अनुमान लगाया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, 2023-24 में सकल घरेलू उत्पाद में 8.2% तक रहने की उम्मीद है. , जबकि वित्त वर्ष 2022-23 में वृद्धि दर 7.0% है. 2023-24 में रियल जीडीपी में 7.2% की वृद्धि हुई है, जबकि 2022-23 में यह वृद्धि दर 6.7% थी. वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही में रियल जीवीए और रियल जीडीपी में 6.3% और 7.8% की वृद्धि का अनुमान लगाया गया है.

जीडीपी में इतनी आएगी तेजी : वित्त वर्ष 2023-24 में रियल जीडीपी या स्थिर कीमतों पर बेस्ड जीडीपी 173.82 लाख करोड़ रुपए तक पहुंचने का अनुमान है, जबकि 2022-23 के लिए पहला संशोधित अनुमान (FRE) 160.71 लाख करोड़ रुपए है. 2023-24 में वास्तविक जीडीपी की वृद्धि दर 8.2% अनुमानित है, जो 2022-23 में 7.0% से अधिक है. जीडीपी या मौजूदा कीमतों पर आधारित जीडीपी 2023-24 में 295.36 लाख करोड़ रुपए तक पहुंचने की उम्मीद है, जबकि 2022-23 में यह 269.50 लाख करोड़ रुपए थी, जो 9.6% की वृद्धि दर को दर्शाता है.

जीवीए में भी तेजी की उम्मीद : 2023-24 में रियल ग्रॉस वैल्यू ऐडेड (GVA) 158.74 लाख करोड़ रुपए रहने का अनुमान है, जो 2022-23 के लिए FRE 148.05 लाख करोड़ रुपए से अधिक है, जो 2022-23 में 6.7% की तुलना में 7.2% की वृद्धि दर के साथ है. वित्त वर्ष 2023-24 के दौरान GVA 267.62 लाख करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद है, जबकि 2022-23 में यह 246.59 लाख करोड़ रुपए था, जो 8.5% की वृद्धि दर को दर्शाता है.

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *