Xpoz-स्पेशलधनबाद-झारखंडबिहार-बंगाल एवं ओडिशा

जरा बच के : सोशल साइट्स पर ‘विषकन्या’…,ऑनलाइन-रेप इनका अचूक ‘हथियार’

धनबाद-NewsXpoz (राजीव सिन्हा 8340201239) : अगर आपको रात में नींद नहीं आ रही है, तो सोशल साइट्स का संभल कर इस्तेमाल करें। अगर आपने किसी अनजान से दोस्ती बना कर टाइम-स्पेंड करने की सोची, तो आप बर्बाद भी हो सकते हैं! पिछले कुछ वर्षों में यह ट्रेंड बहुत जोरों से सामने आ रहे हैं। ऐसी महिला फ्रेंड सोशल मीडिया की ‘विषकन्या’ (Nude-Video-Scam) भी हो सकती है। ये पहले फेसबुक पर दोस्ती करती है।

इसके प्रोफाइल फोटो को देखकर कोई भी आसानी से दोस्ती कर लेता है। फिर वो बहुत प्यार से फेसुबक मैसेंजर (Nude-Video-Scam) पर चैट करती है और लाइव बात करने के लिए वॉट्सऐप नंबर मांग लेती है। इसके बाद वीडियो कॉलिंग के दौरान वो अश्लील वीडियो बना लेती है। फिर शुरू करती है ब्लैकमेलिंग। लेकिन ये जानकर आप चौंक जाएंगे कि यूपी पुलिस के 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी भी इन विषकन्यों  के शिकार बन चुके हैं।


NewsXpoz पर ताजा खबर देखें-पढ़ें और सुने…

न्यूड वीडियो कॉल कर ब्लैकमेल करने का नया तरीका :

फेसबुक पर न्यूड वीडियो कॉल (Nude-Video-Scam) कर ब्लैकमेल करने वाले साइबर क्रिमिनलों ने नया तरीका निकाल लिया है। अब ये एक ही पीड़ित से कई बार पैसे वसूल रहे हैं। पहले लड़की से ऑनलाइन रेप करने के नाम पर अश्लील वीडियो को फेसबुक पर डालने की धमकी देते हैं।

ऐसा ना करने के एवज में पैसे ले लेते हैं। इसके बाद दूसरे नंबर से You Tube का अधिकारी बताकर फोन करते हैं और कहते हैं उनका अश्लील वीडियो यू-ट्यूब पर काफी वायरल हो रहा है। उस वीडियो को यू-ट्यूब से हटवाने के लिए फीस के तौर पर 8 से 10 हजार रुपये या इससे भी ज्यादा वसूल लेते हैं। इसके बाद क्राइम ब्रांच के नाम पर फोन कर अश्लील वीडियो का ‘ऑनलाइन रेप’ का आरोप लगाकर ब्लैकमेल कर रहे हैं।

विषकन्याएं ऐसे उगलती हैं ‘विष’ :

केस स्टडी 01- इंजीनियर युवक बन गया शिकार :

देर रात व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल आई और कोई नंबर फ्लैश नहीं हुआ। इधर से फोन उठा लिया गया। उधर से एक लड़की दिखाई देने लगी। उसने कपड़े उतारने शुरू कर दिए। फोन देख रहा शख्स हतप्रभ होने लगा। उसने कुछ ही देर बाद कॉल काट दी। कॉल फिर आई। रिसीव किया और काट दिया। आधे घंटे बाद व्हाट्सएप पर वीडियो (Nude-Video-Scam) मिला। इसमें उसी शख्स का अश्लील वीडियो पड़ा हुआ था।

उधर से धमकी दी गई कि यदि पैसे नहीं दिए तो ये वीडियो वायरल कर दी जाएगी। इतना सुनते ही सामने वाले के होश उड़ गए। जी हां, ये कहानी नहीं हकीकत है। यूपी की राजधानी लखनऊ के 28 साल के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के साथ ऐसी ही घटना घटी थी।

पीड़ित शख्स पेशे से इंजीनियर था। अचानक रात के 11 बजे अनजान नंबर से शख्स के मोबाइल पर वीडियो कॉल (Nude-Video-Scam) आई। शख्स ने वीडियो कॉल को जैसे ही अटेंड किया, दूसरी तरफ एक लड़की की अश्लील तस्वीर सामने आ गई। अचानक अनजान नंबर से आई वीडियो कॉल और फिर उस वीडियो कॉल पर कपड़े उतारती लड़की को देख शख्स कुछ भी समझ नहीं पाया।

थोड़ी ही देर में उसने वीडियो कॉल (Nude-Video-Scam) बंद कर दी। अगले दिन उसके मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आया। मैसेज देखकर शख्स के होश उड़ गए। मैसेज में उससे गूगल पे पर पैसों की मांग की गई थी। पैसा नहीं देने पर उसकी वीडियो वायरल करने की धमकी दी जाने लगी।

अब शख्स को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि अचानक से यह सब कैसे हो गया? बदनामी के डर से वह किसी से कुछ बताए या नहीं? पुलिस या कानून की मदद ले भी तो कैसे? हालांकि किसी तरह हिम्मत करके शख्स ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस की साइबर सेल इस मामले की जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि साइबर सेल को ऐसी शिकायतें लगातार मिल रही हैं।

बीते कुछ महीनों से ऐसे मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है। डीप फेक टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके यह सब हो रहा है। इसे अंजाम देने वाला गैंग राजस्थान के भरतपुर, यूपी के मथुरा और हरियाणा के मेवात इलाके में ज्यादा सक्रिय है, जहां पर लड़के और लड़कियां ब्लैकमेलिंग के इस धंधे में जोर-शोर से लगे हुए हैं।

केस स्टडी 02 – सोनिया नाम की दोस्त ने किया न्यूड वीडियो कॉल :

धनबाद झरिया के रहने वाले एक युवक को दिसंबर माह में फेसबुक पर सोनिया नामक युवती से दोस्ती हुई थी। फेसबुक पर खूबसूरत फोटो वाली लड़की की फ्रेंड रिक्वेस्ट देखकर युवक ने उससे दोस्ती कर ली थी। रात में करीब डेढ़ बजे जब वो फेसबुक पर ऑनलाइन थे तभी सोनिया ने वॉट्सऐप नंबर मांगा। फिर युवक और सोनिया की वॉट्सऐप पर चैट शुरू हो गई।

कुछ देर में ही सोनिया ने वीडियो कॉल किया और अपने कपड़े उतारने लगी। थोड़ी देर में ही सोनिया न्यूड (Nude-Video-Scam) हो गई और युवक को भी कपड़े उतारने के लिए कहा। महज 48 सेकेंड की वीडियो कॉल के बाद फोन कट गया। इसके कुछ देर बाद ही ब्लैकमेल करना शुरू हुआ।

देर रात में ही आई कॉल, बोला ऑनलाइन रेप से बचना है तो पैसे दो : पीड़ित युवक ने पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर NewsXpoz Digital के रिपोर्टर को बताया कि रात में न्यूड वीडियो कॉल करने के कुछ देर बाद ही एक नंबर से कॉल आई। उसने धमकाते हुए कहा कि अभी तुमने जिस लड़की के साथ ऑनलाइन रेप किया उसका वीडियो हमारे पास है। उस वीडियो को फेसबुक या तुम्हारे परिवार को भेज देंगे। ऐसा नहीं चाहते हो तुरंत 5 हजार रुपये दो। डरकर पीड़ित ने पैसे दे दिए।

ऐसे देते हैं धमकी : पीड़ित ने बताया कि दो दिन बाद एक नंबर से कॉल आई। कॉल करने वाले ने खुद को You Tube का अधिकारी बताते हुए कहा कि उसका एक न्यूड वीडियो कॉल काफी वायरल हो रहा है। ऐसे में अगर उस वीडियो को डिलीट करवाना चाहते हो तो यू-ट्यूब के पेटीएम या UPI अकाउंट में 8 हजार रुपये फीस जमा करनी होगी। ऐसा नहीं करने पर वीडियो काफी वायरल होगी, जिसके बाद तुम्हारी मान-मर्यादा खत्म हो जाएगी। इससे डरकर पीड़ित ने पैसे भी ट्रांसफर कर दिए।

ब्लैकमेलर True Caller पर क्राइम ब्रांच नाम से कर रखा है नंबर सेट : इस तरह अगर कोई पीड़ित इन साइबर क्रिमिनल के झांसे में आ जाता है। तब ये अलग-अलग तरीके से फोन कर ब्लैकमेल कर रहे हैं। इसी पीड़ित को आखिर में एक नंबर से कॉल आती है। True Caller पर उसका नंबर क्राइम ब्रांच लिखा आता है। इसे देखकर युवक फिर से डर जाता है। कॉल रिसीव करने पर कॉलर कहता है कि वो क्राइम ब्रांच से बोल रहा है। उसका एक अश्लील वीडियो मिला है। जिसमें लड़की को डरा-धमका कर न्यूड किया और ब्लैकमेल कर रहे हो। ये सुनकर पीड़ित के ही होश उड़ गए। अगर चाहो तो लड़की को पैसे देकर मामला सेट कर सकते हो। वरना जेल जाना पड़ेगा।

केस स्टडी 03 – डेटिंग ऐप्प से जुड़ा और फंस गया युवक :

एक युवक 32 वर्षीय राजा (परिवर्तित नाम) निजी फर्म में कर्मचारी है। करीब 15 दिन पहले इंटरनेट पर एक मैसेज लिंक आने के बाद वह डेटिंग एप पर जुड़ गया। जहां रजिस्ट्रेशन के समय उसने अपना नाम, ई-मेल आइडी डाली थी। इसके बाद एक सौम्या नाम की लड़की उससे मैसेज में चैट करने लगी। करीब 4 से 5 दिन चैट करने के बाद युवती ने मैसेज किया कि आप किसी भी तरह की अश्लील बात कर सकते हैं, सिर्फ 350 रुपये चार्ज देना होगा। इस पर युवक ने मना कर दिया। 4 दिन पहले युवक के मोबाइल पर उसी युवती ने वीडियो कॉलिंग की। वीडियो कॉल में जो लड़की बात कर रही थी उसकी सुंदरता को देखकर युवक पर रहा नहीं गया और वह उसके आर्कषण में फंस गया।

अश्लील वीडियो चैट किया और करने लगी ब्लैकमेल : युवती ने कुछ दिन पहले वीडियो कॉल कर युवक को अपनी सुंदरता के जाल में फंसा लिया। इसके बाद वह वीडियो चैट करते में जो कहती गई युवक वह करता गया। युवक ने अपने शरीर के कई अंगों का प्रदर्शन किया। जिसकी वीडियो रिकॉर्डिंग युवती द्वारा कर ली गई।

क्या कहते हैं जानकार : साइबर एक्सपर्ट बताते हैं कि मेवात या भरतपुर के साइबर क्रिमिनल आजकल इस ट्रेंड पर काम कर रहे हैं। दरअसल, जब से कोरोना लॉकडाउन हुआ तभी से फेसबुक पर लड़की के नाम से दोस्ती कर न्यूड वीडियो कॉल की ब्लैकमेलिंग हो रही है। इसके लिए साइबर क्रिमिनल पहले फेसबुक पर देख लेते हैं कि किसी व्यक्ति को लड़कियों में दिलचस्पी है। या फिर किसी एडल्ट ग्रुप का वो सदस्य है। ऐसे में वो आसानी से टारगेट कर लेते हैँ। ये ज्यादातर न्यूड रिकॉर्डेड वीडियो का इस्तेमाल करते हैं। किसी कॉल गर्ल या गैंग की महिला सदस्य से वीडियो कॉल कराकर ब्लैकमेल कर रहे हैं।

साइबर एक्सपर्ट के अनुसार साइबर क्रिमिनल पेटीएम या यूपीआई पर अपना नाम You Tube Office बनाकर सेव करते हैं और वीडियो को यूट्यूब पर वायरल होने की बात कहकर भी पैसे मांगते हैं। इसलिए सबसे पहले तो किसी अंजान लड़की से सोशल मीडिया पर दोस्ती नहीं करें। अगर वीडियो कॉल पर ब्लैकमेलिंग (Nude-Video-Scam) शुरू हो गई तो डरने की जरूरत नहीं है और पुलिस को शिकायत करें। साइबर क्रिमिनलों को एक रुपये भी देने की जरूरत नहीं है, क्योंकि उनका मकसद सिर्फ पैसे लेना है ना कि आपको बदनाम करना।

कानून के तहत ब्लैकमेल करना दंडनीय :

  • भारतीय कानून में ऐसे कई प्रावधान है जिनके तहत वीडियो के साथ ब्लैकमेल करना दंडनीय अपराध है। ब्लैकमेलिंग आपराधिक धमकी का एक रूप है। अगर कोई आपके सम्मान या संपत्ति को चोट पहुंचाने के लिए आपको वीडियो के साथ ब्लैकमेल कर रहा है, तो आप भारतीय दंड संहिता की धारा 503 के तहत शिकायत दर्ज कर सकते हैं।
  • अक्सर अपराधी पीड़ित को जबरदस्ती या मांग करके वीडियो के साथ ब्लैकमेल करते हैं, जो कि गैरकानूनी है। यह जबरदस्ती वसूली करने के बराबर है, जो आईपीसी के सेक्शन 384 के तहत दंडनीय अपराध है। जिसके तहत पीड़ित केस फाइल कर सकता है।
  • पीड़िता के पास आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 108(1)(i)(a) के तहत अधिकार है कि वह अपने एरिया के मजिस्ट्रेट से संपर्क करे और मजिस्ट्रेट को उस व्यक्ति के बारे में बताये, जिस पर उसे शक है कि वह किसी भी अश्लील सामग्री को  पब्लिक में बाँट सकता है। मजिस्ट्रेट के पास ऐसे व्यक्तियों को हिरासत में लेने और पीड़ित के वीडियो को प्रसारित करने से बैन लगाने के बांड पर साइन करने का अधिकार है।
  • भारतीय दंड संहिता की धारा 292 का यूज़ ब्लैकमेलिंग के पीड़ित द्वारा किया जा सकता है, जहां अपराधी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के द्वारा पीड़ित की अश्लील तस्वीरों का खुलासा करने की धमकी देता है।
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट 2000 के सेक्शन 66E के तहत, किसी व्यक्ति की सहमति के बिना उसकी वीडियो कैप्चर करके या किसी व्यक्ति की तस्वीरें प्रसारित करके उसकी प्राइवेसी का उल्लंघन करने के लिए केस फाइल किया जा सकता है।
  • इसी तरह, अगर किसी व्यक्ति को बदनाम करने के लिए उसका वीडियो प्रसारित किया तो ब्लैकमेलर के खिलाफ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट 2000 के सेक्शन 67 के तहत केस फाइल किया जा सकता है।
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट 2000 का सेक्शन 67 ए ब्लैकमेलर के खिलाफ एक ऐसा कानूनी हथियार है, जहां वीडियो क्लिप रिकॉर्ड करने और प्रसारित करने के लिए छिपे हुए कैमरों का यूज़ करना दंडनीय अपराध है।

अगर कोई आपको ब्लैकमेल करे, तो क्या करें? :

  1. ब्लैकमेलर की धमकियों का पालन ना करें : बिना डरे केस को अपने हाथ में लें। आपको धमकी देने के लिए ब्लैकमेलर द्वारा की गई मांगों को पूरा ना करें। ऐसा करने से आप मुश्किल में पड़ जाएंगे और ब्लैकमेलर अपने मकसद को अंजाम देगा।
  2. पुलिस को सूचित करें : जबरदस्ती वसूली और ब्लैकमेलिंग एक दूसरे से जुड़े अपराध हैं। अगर ब्लैकमेलर आपको मॉर्फ्ड वीडियो या किसी संवेदनशील पर्सनल वीडियो को पब्लिक्ली प्रसारित करने की धमकी देता है, तो पहले पुलिस को सूचित करें। अगर ब्लैकमेलर आपका पर्सनल वीडियो इंटरनेट पर फैलाने के लिए ब्लैकमेल करता है, तो आप यह रिपोर्ट भी कर सकते है।
  3. एडवोकेट से सलाह करें : ब्लैकमेलिंग के ऐसे मैटर्स को किसी अन्य व्यक्ति के साथ साझा करना अक्सर मुश्किल होता है, जब तक कि आपको उन पर पूरा भरोसा नहीं होता। इस सिचुएशन में आप एक लॉयर जैसे कानूनी पेशेवरों की मदद ले सकते हैं, जो न केवल आपकी प्राइवेसी की रक्षा करेंगे बल्कि साथ में आपको उचित न्याय दिलाने में भी मदद करेंगे।
  4. गुमनाम रूप से साइबर क्राइम की रिपोर्ट करें : साइबर क्राइम और ब्लैकमेलिंग का शिकार होने पर आप www.cybercrime.gov.in पर गुमनाम रूप से अपराध की रिपोर्ट कर सकते हैं।
  5. साइबर सेल में रिपोर्ट : आप किसी भी शहर में साइबर क्राइम की कम्प्लेन करने के लिए साइबर सेल से संपर्क कर सकते हैं, क्योंकि साइबर क्राइम का कोई एरिया नहीं होता है।
  6. राष्ट्रीय महिला आयोग : अगर आप भी ऐसी मुश्किलों का सामना कर रही हैं और किसी अन्य सोर्स से मदद नहीं ले पा रही हैं, तो आप राष्ट्रीय महिला आयोग को ब्लैकमेल किए जाने की शिकायत लिख सकती हैं।

अगला नंबर कहीं आपका तो नहीं, रहें सावधान : पुलिसकर्मियों और अधिकारियों तक को अपने हुस्न के जाल में फंसा चुकी सोशल मीडिया की ये विषकन्या कहीं आपको भी ना फंसा दें। इसलिए अलर्ट रहें। दरअसल, इस तरह के साइबर क्राइम आजकल काफी हो रहे हैं। अभी हाल में ही एक लड़की ने नोएडा में रहने वाले एक इग्जेक्यूटिव पर ऑनलाइन रेप का आरोप लगाया था। ऐसे में हो सकता है कि ऐसी विषकन्याओं का अगला टारगेट आप ना बन जाएं।

सतर्क रहें और समझदार बनें :लड़की अपने कपड़े भी उतारती है, सामने वाले को भी ऐसा करने के लिए कहती है। तमाम लोग ऐसी कॉल आते ही समझ जाते हैं कि ये झांसेबाजी है, तो कई लोग इस झांसेबाजी में फंस भी जाते हैं। कॉल डिस्कनेक्ट होने के बाद ये लोग उस शख्स के चेहरे को मॉर्फ करके न्यूड वीडियो बना लेते हैं। फिर शुरू होता है ब्लैकमेलिंग का खेल। आपसे गुजारिश है कि ऐसे झांसों में न खुद फंसें और न अपने आसपास के लोगों और दोस्तों को फंसने दें।

समझें और समझाएं कि फोन पर लड़की कहीं से अचानक नहीं टपकती। अपराधी बाकायदा जाल बिछाकर ऐसे शिकार करते हैं। अपराध का ये ट्रेंड बहुत तेजी से चल रहा है। इनका शिकार होने से बचिए और जानकारी शेयर करके दूसरों को भी बचाइए। सबसे पहली बात तो सावधानी और सतर्कता ही सबसे बड़ा बचाव है। ऐसे में सोशल मीडिया पर किसी भी अनजाने नंबर से आई वीडियो कॉल को कभी भी न उठाएं न ही किसी को उठाने दें। सोशल मीडिया पर अपनी फ्रेंड लिस्ट को भी चेक करके संदिग्ध लोगों को अनफ्रेंड किया जाना ही सबसे कारगर है। 

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *