बिहार-बंगाल एवं ओडिशा

झारखंड : राज्यपाल से मिलने पहुंचे चंपई, दोबारा पेश किया सरकार बनाने का दावा

रांची : झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कथित जमीन घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, इससे पहले ही सोरेन ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद सत्तारूढ़ झामुमो के नेतृत्व वाले गठबंधन ने नए राज्य प्रमुख के रूप में वरिष्ठ नेता चंपई सोरेन का नाम प्रस्तावित किया। आज राजभवन में चंपई सोरेन का शपथग्रहण हो सकता है। राज्यपाल ने चंपई को 5.30 बजे बुलाया है। इस बीच झारखंड में कुछ आदिवासी संगठनों ने बंद का आह्वान किया है। ईडी ने हेमंत सोरेन को पीएमएलए कोर्ट में पेश किया।

चंपई सोरेन ने राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने राज्य में सरकार बनाने के लिए दोबारा दावा पेश किया। उन्होंने 43 विधायकों के समर्थन का वीडियो भी दिखाया। हालांकि राज्यपाल ने अभी भी उन्हें सरकार बनाने का न्योता नहीं दिया है। राज्यपाल ने कहा है कि प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी।

राज्यपाल से मिले पहुंचे चंपई सोरेन : झामुमो के विधायक दल के नेता चुने गए चंपई सोरेन राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन से मिलने उनके आवास पर पहुंच गए हैं। इससे पहले उन्होंने पत्र लिखकर राज्यपाल से मिलने का समय मांगा था। जिसके बाद राज्यपाल ने उन्हें 5.30 बजे का समय दिया था। चार और विधायक भी उनके साथ गए हैं। जिनमें आलमगीर आलम, झामुमो महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य भी हैं।

हेमंत सोरेन आज की रात जेल में ही रहेंगे : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को बृहस्पतिवार को धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) अदालत में पेश किया गया। ईडी ने झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन की 10 दिन की रिमांड की मांग की। हालांकि अदालत ने दलीलों को सुनने के बाद आदेश सुरक्षित रख लिया। झारखंड के पूर्व सीएम और जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन रांची के पीएमएलए कोर्ट से निकल गए हैं। हेमंत सोरेन को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। अभी हेमंत को होटवार जेल ले जाया गया है।

इस बारे में वकील मनीष सिंह ने बताया कि हेमंत सोरेन को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। 10 दिन की रिमांड की मांग की गई थी लेकिन आदेश सुरक्षित रख लिया गया है और अगली सुनवाई कल होगी। बता दें कि हेमंत सोरेन को आज की रात जेल में ही बितानी पड़ेगी। झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष सोरेन को बुधवार रात यहां उनके आधिकारिक आवास पर धनशोधन मामले में सात घंटे की पूछताछ के बाद ईडी ने गिरफ्तार कर लिया था।

वी के चौबे ने छोड़ा झारखंड के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव का पद : झारखंड के मुख्यमंत्री पद से हेमंत सोरेन के इस्तीफा देने के एक दिन बाद वरिष्ठ आईएएस अधिकारी विनय कुमार चौबे ने भी  मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव का पदभार छोड़ दिया है। इसके साथ ही उन्होंने अन्य सभी अतिरिक्त प्रभार भी त्याग दिए हैं।

चौबे ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव का प्रभारी था। जब मुख्यमंत्री ने इस्तीफा दिया, तो मुझे प्रधान सचिव पद छोड़ना पड़ा। मैंने अन्य सभी अतिरिक्त प्रभार भी त्याग दिए। उन्होंने कहा कि मैं कार्मिक विभाग में शामिल हो गया हूं और अब नई पोस्टिंग का इंतजार कर रहा हूं।

गौरतलब है कि वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अविनाश कुमार को बुधवार को राज्य सरकार के गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव पद से हटा दिया गया था। अब मुख्य सचिव एल खियांग्ते गृह, जेल और आपदा प्रबंधन विभाग का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे।

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *