Xpoz-स्पेशलधनबाद-झारखंडबिहार-बंगाल एवं ओडिशा

धनबाद : विशालकाय नीम पेड़ से निकलने लगा दूध तो… श्रद्धालुओं का लगा तांता

धनबाद-NewsXpoz : देश में अनेक प्रकार की (Neem-Tree-Puja) आश्चर्यजनक तथा अद्भुत घटनाएं कई स्थानों पर देखने को मिलता है। जिसे लोग आस्था से जोड़कर देखते हैं। वहीं कई लोग इसे अंधविश्वास कहने से भी नहीं चूकते है। अब इस विज्ञान के युग में इसे दैवीय चमत्कार कहें या अंधविश्वास…यह समझ से परे है! ऐसे कई मामलों में लोग इसे प्रकृति का वरदान मान लेते हैं।

NewsXpoz पर ताजा खबर देखें-पढ़ें और सुने…

 

ऐसा ही एक मामला झारखंड राज्य के धनबाद जिला अंतर्गत राजगंज के खरनी पंचायत के बेलटाड़ गांव में दिखा। जहां आज से 6 दिन पहले एक विशालकाय नीम पेड़ (Neem-Tree-Puja) से दूध जैसा सफेद तरल द्रव्य निकल कर बहने लगा। आसपास के लोगों तक यह खबर आग की तरह पहुंच गई। …और देखते ही देखते वहां लोगों का पहुंचना शुरू हो गया। इसी दौरान कई लोगों ने इसे मां शीतला का आशीर्वाद समझकर पूजा-पाठ में जूट गए। इस संबंध में राजगंज खरनी निवासी जमीन मालिक छोटू चौधरी ने बताया कि वह कुछ माह पूर्व जमीन के उक्त प्लॉट को खरीदे थे।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by NewsXpoz Digital (@newsxpozdigital32)

जहां एक सप्ताह से खुदाई का काम कर रहे थे। इसी क्रम में बुधवार की शाम जब काम बंद हुआ तो वह घर चले गए। जिसके बाद गांव वालों ने उन्हें सूचना दी कि उक्त प्लॉट पर एक विशालकाय नीम पेड़ (Neem-Tree-Puja) से दूध जैसा तरल द्रव्य निकल रहा है। जिसे सुनकर वह मौके पर पहुंचे और वस्तु स्थिति को देखा तथा समझा।

वहीं जमीन मालिक छोटू चौधरी ने बताया कि यह मां शीतला का आशीर्वाद है। अब वह जमीन पर जय मां शीतला धाम के नाम से मंदिर निर्माण करेंगे। जिससे भक्तों को उनका आशीर्वाद मिल सके। इस विशालकाय अदभुत पेड़ (Neem-Tree-Puja) को देखने पहुंचे NewsXpoz के संवाददाता को स्थानीय लोगों ने बताया कि उक्त विशालकाय नीम पेड़ से जब दूध जैसा तरल द्रव्य निकलने लगा तो वह लोग इसे देवी की शक्ति मान कर वहां पूजा-पाठ कर रहे है। वहीं पूरे इलाके में विशालकाय अद्भुत नीम का पेड़ चर्चा का विषय बना हुआ है। आसपास के कई गांव से श्रद्धालुओं का आना-जाना लगा हुआ है।

क्या कहते हैं जानकार : वनस्पति विज्ञान के एक प्रोफेसर ने बताया कि पेड़ों में लेटेक्स नामक द्रव्य अंदर नलियों में रहता है। पेड़ में कट लगने पर ये बाहर निकलने लगता है। इस प्रकार का उदाहरण हम अकाउ के पेड़ में भी देख सकते है, उसमें से पीला द्रव्य निकलता है। हम जो लोभान (गुगल) जलाते है वो भी पेड़ से निकलने वाला लेटेक्स द्रव्य का ही ठोस रूप है।

नीम के पेड़ (Neem-Tree-Puja) से निकलने वाला द्रव्य अधिक मात्रा में सेवन करने से मानव स्वास्थ्य को हानि पहुंचा सकता है। जाइलम द्वारा पौष्टिक तत्वों को तने तक पहुंचाया जाता है। जाइलम फटने के कारण नीम के पेड़ से दूध जैसा तरल द्रव्य निकलने लगता है। रिपोर्ट : (अमन्य सुरेश +91-8340184438)

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *