Xpoz-स्पेशलधनबाद-झारखंडबिहार-बंगाल एवं ओडिशा

NH-2 पर खड़ी गाड़ियां बन रहे है “काल”, “ब्लैक-स्पॉट” पर जिम्मेवार बेपरवाह

धनबाद (राजीव सिन्हा 9135421800) : जिले से होकर गुजरने वाली करीब 70 किमी का राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 (NH-2-Par-Kaal) इनदिनों “ब्लैक-स्पॉट” में तब्दील होता जा रहा है। क्योंकि इस राजमार्ग (NH-2-Par-Kaal) के कई स्थानों पर आए दिन सड़क हादसे हो रहे हैं। जिसमें कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है। इन हादसों की मुख्य वजह सड़क पर इधर-उधर वाहनों को बेतरतीब खड़े होना बताया जा रहा है। जिसे राष्ट्रीय राजमार्ग के जिम्मेवार लगातार अनदेखी कर रहे हैं। फलस्वरुप मौत के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं।


NewsXpoz पर ताजा खबर देखें-पढ़ें और सुने…

सड़क पर खड़े वाहन दुर्घटना के प्रमुख वजह : राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 (NH-2-Par-Kaal) पर चालक अक्सर लंबी दूरी तक ड्राइविंग करते हैं। ऐसे में कई बार दूर में खड़ी गाड़ियों के चलते होने का भ्रम हो जाता है। जब वह नजदीक पहुंचते हैं.. तब उन्हें वास्तविकता का बोध होता है। जिससे तेज गति से चलने वाली वाहन चालकों के पास संभलने का मौका नहीं होता और दुर्घटना घट जाती है। जिसके कई लोग शिकार हो जाते हैं।

राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 (NH-2-Par-Kaal) के किनारे दिन हो या रात सुरक्षा नियमों को दरकिनार कर बड़ी संख्या में भारी वाहन चालक अपनी मनमर्जी दिखाते हुए गाड़ियां खड़ी करते हैं। इस दौरान रात में कभी साइड लेने, तो कभी अंधेरे में नहीं दिखने के कारण खड़ी वाहनों के चलते हादसे बढ़ गए हैं। इसके बाद भी इन वाहन चालकों पर कार्रवाई नहीं होने पर बेगुनाहों के खून से सडक़ें लाल हो रही है।

NHAI व जिला प्रशासन के जिम्मेदार हैं बेपरवाह : हैरत इस बात पर है कि राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 (NH-2-Par-Kaal) पर लगातार हो रही दुर्घटनाओं के बाद भी NHAI और जिला प्रशासन के अफसर बेपरवाही दिखाते हुए लगातार लापरवाही बरत रहे हैं। जिससे हादसों की संख्या में प्रतिमाह बढ़ोतरी होती जा रही है।

ब्लैक स्पाट बनते जा रहा राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 : राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 (NH-2-Par-Kaal) पर जिले में अवस्थित तोपचांची, राजगंज, जोड़ा पीपल, डोमनपुर, उदयपुर, लोहार बरवा, बरवाअड्डा, कांड्रा मोड़, कौआ बांध, गोविंदपुर, रतनपुरा, बागसुमा, बरवा पूर्व, निरसा, मुगमा, मैथन मोड़  के आसपास हमेशा दुर्घटनाएं घटती रहती हैं। घटना का मुख्य कारण इन जगहों पर संचालित लाइन होटल बताया जाता है। प्रतिदिन सड़क पर ट्रक व ट्रेलर खड़ा कर चालक होटल में आराम करते हैं। जो दुर्घटनाओं का प्रमुख कारण बताया जा रहा है। होटल के पास अवैध रूप से खड़े वाहन के कारण आने-जाने वाले लोग अपना जान जोखिम में डाल कर चलने को मजबूर हैं।

हादसों के बावजूद नहीं खुल रही प्रशासन की आंखें : राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 (NH-2-Par-Kaal) पर सड़क किनारे खड़ी गाडियों से हो रही घटनाओं के बावजूद प्रशासन की आंखें नही खुल रही है। स्थानीय पुलिस भी जब्त गाडियों को सड़क किनारे ही खड़ी कर देती है। इससे भी कई घटनाएं घटित हो चुकी है।

राजस्थान के रहने वाले ट्रक चालक भैरव लाल ने बताया कि सरकार हाईवे को छह से आठ लेन में तब्दील कर रही है। लेकिन कहीं भी गाड़ियों को नियमों के विपरीत खड़ी करने पर कार्रवाई नहीं होती है। चालक ने बताया कि अगर सड़क किनारे गाड़ी नही खड़ी की जाए, तो सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी। जब कभी चालक को नींद आने लगती हैं, तो वे सड़क किनारे गाड़ी खड़ी कर सो जाते है, जिससे भी दुर्घटनाएं होती रहती हैं।

हर 50 किलोमीटर पर करें ये काम :

  • NCIB का कहना है कि जब आप लम्बी दूरी की यात्रा में निकल रहे हैं तो अपने साथ 4 बोतल पानी जरूर रखें।
  • हर 50 किलोमीटर पर ठंडे पानी से मुंह धोएं और हर कुछ समय में एक घूंट पानी जरूर पिए।
  • अगर कोई साथी हैं तो आपस में बातचीत करते रहें।

असुरक्षित ड्राइविंग के लक्षण :  

  • परिचित स्थानों का पता लगाना भूल जाना।
  • यातायात संकेतों का पालन न करना।
  • ट्रैफ़िक में धीमे या ख़राब निर्णय लेना।
  • अनुचित गति से वाहन चलाना।
  • गाड़ी चलाते समय क्रोधित होना या भ्रमित होना।

अंकुश लगाना :

  • ख़राब लेन नियंत्रण का उपयोग करना।
  • चौराहों पर गलतियाँ करना।
  • ब्रेक और गैस पैडल को भ्रमित करना।
  • नियमित ड्राइव से सामान्य से देर से लौटना।
  • यात्रा के दौरान आप जिस गंतव्य तक गाड़ी चला रहे हैं उसे भूल जाना। 

प्रति वर्ष 80 हजार लोगों की होती है मौत : भारत में ही हर साल लगभग अस्सी हजार लोग सड़क दुर्घटनाओं (NH-2-Par-Kaal) में मारे जाते हैं। जो पूरी दुनिया में होने वाली कुल मृत्यु का तेरह प्रतिशत है। अधिकांश दुर्घटनाओं में चालक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ज्यादातर मामलों में दुर्घटनाएं या तो लापरवाही के कारण होती हैं या सड़क उपयोगकर्ता की सड़क सुरक्षा जागरूकता की कमी के कारण होती हैं।

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *