Xpoz-स्पेशलकर्नाटक-केरल एवं अन्यप्रदेश

बंगाल : विश्व प्रसिद्ध पवित्र गंगा-सागर मेला का आगाज, भक्तों का लगा तांता

दक्षिण 24 परगना-NewsXpoz : विश्व प्रसिद्ध और पवित्र गंगा सागर मेला का आगाज 8 जनवरी से हो गया है और यह 16 जनवरी तक चलेगा। इस बीच, देश और दुनिया से लाखों श्रद्धालु मकर संक्रांति के दिन डुबकी लगाने के लिए पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना के सागर द्वीप स्थित गंगा सागर पहुंचने लगे हैं। बंगाल सरकार ने इसके लिए सभी तरह की तैयारी की है। गंगा सागर पहुंचने से पहले कोलकाता में श्रद्धालु विश्राम करते हैं।

दुनिया भर से यहां पर पवित्र स्नान के लिए लगातार भक्त पहुंच रहे है। मकर संक्रांति पर गंगा सागर में स्नान को लेकर पौराणिक महत्व है। पौराणिक कथा के अनुसार, जब माता गंगा भगवान शिव की जटा से निकलकर पृथ्वी पर पहुंची थीं तब वह भागीरथ के पीछे-पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम में जाकर सागर में मिल गई थीं। मां गंगा के पावन जल से राजा सागर के साठ हजार शापग्रस्त पुत्रों का उद्धार हुआ था। इस घटना की याद में तीर्थ गंगा सागर का नाम प्रसिद्ध हुआ।

भक्तों की भीड़ लगातार बढ़ती ही जा रही है। लंबी-लंबी कतारें देखने को मिल रही है।गंगा सागर मेले के दौरान सजाया कपिल मुनि आश्रम का क्षेत्र में शुक्रवार को शोभायात्रा निकाली गई इसमें भक्तों ने हिस्सा लिया। यहां पर भक्तों के पहुंचने से माहौल भक्तिमय हो गया है। गंगा सागर मेले के दौरान सुंदर बाजार भी सजा है। लोग अपनी-अपनी पसंद का सामान भी खरीद रहे हैं। बंगाल की बनीं आकर्षक वस्तुएं भक्तों को लुभा रहे हैं।

गंगा सागर मेले में पहुंचने के लिए भक्तों को नदी पार करना पड़ता है। कोलकाता के बाबूघाट के पास और गंगा सागर में भक्तों के लिए विभिन्न सामाजिक, धार्मिक और अन्य संगठनों ने  भक्तों के नि:शुल्क ठहरने और भोजन की व्यवस्था की है। गंगा सागर मेले में हिस्सा लेने से पहले कोलकाता के बाबूघाट के पास हजारों की संख्या में साधु-संत मेले में पहुंच रहे हैं। विश्व प्रसिद्ध गंगा सागर मेले में जाने के लिए गंगा नदी को पार करके जाना पड़ता है। नदी के पार तीर्थयात्रियों का तोरणों से स्वागत किया जा रहा है।

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *