ब्यूटी

बालों से लेकर त्वचा तक के लिए फायदेमंद है चावल का पानी

नई दिल्ली : जब हम चावल को कुकर की जगह किसी पतीले में बनाते हैं, तो चावल पकने के बाद जो पानी बचता है, उसे अक्सर लोग फालतू समझ फेंक देते हैं। हालांकि, चावल का पानी आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। असल में यह चावल का स्टार्च है, जिसे लोग चावल का पानी कहते हैं, जिसके कई फायदे होते हैं।

कुछ लोग कच्चे चावल को कुछ देर के लिए, लगभग 30 मिनट के लिए पानी में भिगो कर रख देते हैं, और फिर इस पानी को भी चावल के पानी के रूप में इस्तेमाल करते हैं। लेकिन चावल को उबालने से पानी में अधिक स्टार्च निकलता है। इसके गजब के फायदे जान कर आप हैरान हो जाएंगे। आइए जानते हैं चावल के पानी के फायदे-

स्किन के लिए बेहतरीन टोनर : स्किन के लिए चावल का पानी एक बेहतरीन टोनर, क्लींजर, स्किन लाइटनिंग, हाइपरपिग्मेंटेशन, सन टैन के रूप में काम करेगा। साथ ही यह बढ़ती उम्र के दाग धब्बों को खत्म करने में मदद करता है। यह पोर्स के साइज को कम करता है, स्किन को टाइट करता है और झाइयों को भी कम करता है।

इसे इस्तेमाल करना भी बहुत आसान है। कॉटन के एक बॉल को चावल के पानी में डिप करें और चेहरे पर मल लें। आसानी से लगाए जाने वाला ये सस्ता नुस्खा स्किन के लिए कई मायनों में फायदेमंद है। चावल के पानी में एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन सी, विटामिन ए, फेनोलिक और फ्लेवोनॉयड कंपाउंड पाए जाते हैं, जो खास स्किन के लिए फायदेमंद होते हैं।

बालों की करे कंडीशनिंग : चावल का पानी बालों की अच्छे कंडीशनिंग करता है, उन्हें मुलायम और घना बनाता है। यह उलझे बालों को सुलझाने में भी मदद करता है। बालों में इसे लगाना भी बहुत आसान है। शैम्पू करने के बाद चावल के पानी से स्कैल्प की मालिश करें, जिससे इसमें मौजूद सभी विटामिन और मिनरल बालों को जड़ों तक चले जाएं। इसके बाद पूरे बालों को इससे धुल लें।

पाचन के लिए बेहतरीन : जब डिहाइड्रेशन को जाए या फिर किसी कारण कुछ खाने की इच्छा न करे, तो चावल का पानी एक पौष्टिक आहार साबित होता है। स्वाद के लिए इसमें हल्का सा नमक डाल कर पिएं। यह एक सुपाच्य पेय पदार्थ है, जिसे कोई बीमार व्यक्ति भी आसानी से पचा सकता है। इसके अलावा इसे बच्चे बूढ़े सभी आराम से पी सकते हैं, यह सभी के लिए सुरक्षित और पौष्टिक विकल्प है।

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *