देश-विदेश

ब्रिटेन : भारतीय मूल की शिक्षिका और राजनीतिज्ञ बैरोनेस श्रीला फ्लेदर का निधन

नई दिल्ली/लंदन-NewsXpoz : भारतीय मूल की शिक्षिका और राजनीतिज्ञ का ब्रिटेन में निधन हो गया है। 89 साल की आयु में शिक्षिका बैरोनेस श्रीला फ्लेदर ने अंतिम सांस ली। उनके बेटों- मार्कस और पॉल प्लेदर ने बताया कि आयु संबंधी बीमारियों के कारण उनका निधन हुआ है। हाउस ऑफ लॉर्ड्स में अपनी खूबसूरत साड़ियों के लिए मशहूर रहीं फ्लेदर बर्कशायर में विंडसर और मेडेनहेड का प्रतिनिधित्व करती थीं। मेमोरियल गेट्स काउंसिल की आजीवन अध्यक्ष रहीं फ्लेदर ने लंदन के हाइड पार्क कॉर्नर में प्रतिष्ठित मेमोरियल गेट्स के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इस केंद्र पर विश्व युद्ध के दौरान लगभग 5 मिलियन राष्ट्रमंडल सैनिकों को श्रद्धांजलि दी जाती है।

महिलाओं और लड़कियों के अधिकारों के लिए जमकर की लड़ाई : फ्लेदर के नाम ब्रिटेन में पहली बार कई शीर्ष पदों को संभालने का गौरव भी है। पहली एशियाई महिला शांति न्यायाधीश होने के अलावा फ्लेदर मेयर और बैरोनेस भी रह चुकी हैं। उन्होंने महिलाओं और लड़कियों के अधिकारों के लिए जमकर लड़ाई लड़ी। फ्लेदर को उनकी हास्य की भावना, स्पष्ट भाषण और नस्ल, आप्रवासन और मृतक की गरिमा जैसे कई कारणों के प्रति प्रतिबद्धता के लिए याद किया जाएगा। उन्हें विशेष रूप से राष्ट्रमंडल देशों के लगभग 50 लाख गैर-श्वेत सैनिकों की स्मृति में मध्य लंदन में मेमोरियल गेट्स की स्थापना के लिए याद किया जाएगा।

श्रीला को हमेशा भारतीय और एशियाई होने पर गर्व रहा : मेमोरियल गेट्स काउंसिल के अध्यक्ष लॉर्ड करण बिलिमोरिया ने बैरोनेस फ़्लैथर के निधन पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि  फ्लेदर को प्रेरक शक्ति बताते हुए कहा कि इन्होंने कई पूर्वाग्रहों को तोड़ा। वे 30 वर्षों से परिचित थे। बिलिमोरिया के मुताबिक श्रीला को हमेशा भारतीय और एशियाई होने पर गर्व था। उन्होंने कई लोगों के लिए मार्ग प्रशस्त किया। वह उन सभी लोगों को बहुत याद आएंगी जो उन्हें जानते हैं।

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *