देश-विदेश

भारत को मिला इस्राइल का साथ, लक्षद्वीप में अहम परियोजना करने को राजी

नई दिल्ली : लक्षद्वीप दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रकृति के साथ बिताए समय के कुछ तस्वीरों को साझा किया था। जिसके बाद से ही तमाम सोशल मीडिया में इसको लेकर प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं। लक्षद्वीप की नैसर्गिंक सुंदरता की तस्वीरों को देख मालदीव के नेताओं ने पीएम मोदी पर बयानबाजी की। यह मुद्दा लक्षद्वीप बनाम मालदीव बन गया हैं। कई जानी-मानी हस्तियां भी लक्षद्वीप को लेकर पोस्ट साझा करने लगे हैं।

इस्राइली दूतावास ने साझा की तस्वीरें : इसी बीच, भारत में स्थित इस्राइली दूतावास ने लक्षद्वीप से जुड़ा पोस्ट सोशल मीडिया पर साझा किया। जिसमें उन्होंने लिखा कि पिछले वर्ष भारत सरकार के आग्रह पर अलवणीयकरण कार्यक्रम के दौरान हम लक्षद्वीप में थे। इस्राइल नौ जनवरी से इस परियोजना पर काम शुरू करने के लिए तैयार हैं। साथ ही उन्होंने लिखा हम कुछ लक्षद्वीप से जुड़ी तस्वीरों को आपके साथ साझा कर रहे हैं। यह उनके लिए हैं, जो लक्षद्वीप समूह की प्राचीन और पानी के नीचे की सुंदरता को नहीं देख पाएं हैं।

अदार पूनावाला ने भारतीय पर्यटन स्थलों पर यह कहा : सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के सीईओ अदार पूनावाला ने लिखा, “हमारे देश में अकल्पनीय क्षमता वाले कई शानदार पर्यटन स्थल हैं; जिनका अभी तक पूरी तरह से पता नहीं लगाया गया है। क्या आप में से कोई भी सिर्फ मेरे द्वारा पोस्ट की गई तस्वीरों से इस भारतीय पर्यटक स्वर्ग का अनुमान लगा सकता है?”

क्या था मामला : दरअसल, दो जनवरी को पीएम मोदी ने केंद्रशासित प्रदेश लक्षद्वीप का दौरा किया था और इस दौरे की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर किए थे। उन्होंने स्नॉर्कलिंग पर हाथ आजमाने के अपने अनुभव को भी उल्लेख किया था। पीएम मोदी के इस पोस्ट पर लक्षद्वीप की मंत्री मरियम शिउमा ने भारत के प्रधानमंत्री पर अपमानजनक टिप्पणी के साथ उनका मजाक उड़ाया था। उनकी पोस्ट में पीएम मोदी की लक्षद्वीप दौरे की तस्वीरें भी थी।

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *