प्रदेशमध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़

मप्र : कई गर्भवती महिलाएं 22 जनवरी को कराना चाहती हैं बच्चे की डिलीवरी

इंदौर-NewsXpoz : अयोध्या में भगवान राम के नवनिर्मित मंदिर में 22 जनवरी को होने वाली प्राण-प्रतिष्ठा के मद्देनजर इंदौर में कई गर्भवती महिलाओं ने चिकित्सकों के सामने इस तारीख को प्रसूति कराए जाने की इच्छा जताई है.देशभर के लोग अयोध्या में श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर बहुत उत्साहित हैं. साथ ही लोग इस क्षण को यादगार बनाना चाहते हैं.

जिन परिवारों में गर्भवती महिलाएं हैं और उनका प्रसव 22 जनवरी को होना चाहिए, वे डिलीवरी करना चाहेंगे. इसके लिए वे प्रोग्राम डिलीवरी का सहारा ले रहे हैं. नैनीताल, उत्तराखंड में भी अब तक छह परिवार ने जिला अस्पताल के डॉक्टरों से ऐसा करने की मांग की है. यह भी कहा जाता है कि राम नाम का बेटा होगा और सीता नाम का बेटी होगी .

एक प्रभारी चिकित्सा अधिकारी ने बताया,‘‘हमारे अस्पताल में नियमित स्वास्थ्य जांच कराने वाली करीब 60 गर्भवती महिलाओं ने हमसे अनुरोध किया है कि उनकी प्रसूति 22 जनवरी को कराई जाए ताकि उनका मातृत्व राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा के शुभ संयोग से जुड़ सकें. इस विशेष अवसर को लेकर ये महिलाएं और उनके परिवार के लोग खासे उत्साहित हैं.’’

जच्चा-बच्चा का स्वास्थ्य सर्वोपरि : उन्होंने बताया कि ये वे महिलाएं हैं जिनकी गर्भावस्था की अवधि 22 जनवरी के आस-पास पूरी होने वाली है. राजगीर ने कहा कि अस्पताल के चिकित्सकों के लिए जच्चा-बच्चा का स्वास्थ्य सर्वोपरि है और इसे ध्यान में रखकर ही इन गर्भवती महिलाओं की प्रसूति का फैसला किया जाएगा.

जल्द ही मां बनने जा रही बबली (30) ने कहा,‘‘चिकित्सकों ने मुझे प्रसूति के लिए 19 जनवरी से 10 फरवरी के बीच की संभावित तारीख दी है, लेकिन मैं चाहती हूं कि मैं अपने बच्चे को 22 जनवरी को जन्म दूं क्योंकि इस तारीख को अयोध्या के राम मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा होने वाली है.’’

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *