कर्नाटक-केरल एवं अन्यप्रदेश

‘मिचौंग’ का कहर जारी, आज आंध्र समेत चार राज्यों में आएगा बवंडर

चेन्नई : चक्रवाती तूफान ‘मिचौंग’ मंगलवार को दक्षिण आंध्र प्रदेश और उत्तरी तमिलनाडु तटों से टकरा सकता है। मौसम विभाग ने कहा कि 90 से 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। मिचौंग भीषण चक्रवाती तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में कई स्थानों पर भारी वर्षा हो रही है। कई ट्रेनें और उड़ानें रद की गई हैं।

रेलवे ने चेन्नई में आपातकालीन सेल, दिल्ली में वार रूम स्थापित किया है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों में आंधी के साथ भारी बारिश की संभावना जताई है। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, तेलंगाना और पुडुचेरी में तूफान का असर दिखेगा। भारत मौसम विभाग (आइएमडी) ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, सोमवार दोपहर ढाई बजे मिचौंग चेन्नई से करीब 100 किलोमीटर उत्तर-पूर्व और नेल्लोर से 120 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में केंद्रित था।

यह धीरे-धीरे तेज होगा और उत्तर की ओर बढ़ेगा। अमरावती मौसम विज्ञान केंद्र के अधिकारी ने कहा कि तूफान के धीरे-धीरे तीव्र होने और पांच दिसंबर की सुबह बापटला के करीब नेल्लोर और मछलीपट्टनम को पार करने की संभावना है।

म्यांमार ने दिया है मिचौंग नामतूफान को म्यांमार ने मिचौंग नाम दिया है। इसका अर्थ है ²ढ़ता। इसे काफी शक्तिशाली तूफान माना जा रहा है और इसी आधार पर यह नामकरण किया गया है। दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग संगठनों द्वारा चक्रवातों का नाम रखा जाता है।

उत्तरी हिंद महासागर में आने वाले तूफानों को नाम देने के लिए भारत समेत 13 देशों का एक समूह है। भारत, बांग्लादेश, मालदीव, म्यांमार, ओमान, पाकिस्तान, थाइलैंड, श्रीलंका, ईरान, कतर, सऊदी अरब, यूएई और यमन बारी-बारी से तूफान का नाम निर्धारित करते हैं।

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *