प्रदेशराजनीति

मिजोरम : जेडपीएम को मिली बहुमत, अबतक 25 सीटें जीत चुकी है पार्टी

नई दिल्ली : पूर्वोत्तर राज्य मिजोरम में 1984 से कभी कांग्रेस तो कभी मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) सरकारें रही हैं। इस बार राज्य पूर्व आईपीएस लालदुहोमा की नेतृत्व में बनी नई राजनीतिक पार्टी जोरम पिपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) बहुमत में आई है। वहीं, एमएनएफ के जोरामथांगा अपनी सरकार को बचाने में नाकामयाब रहे।

चुनाव आयोग के नतीजों में जेडपीएम को बहुमत मिली है। अबतक पार्टी 25 सीटों पर अपनी जीत दर्ज कर चुकी है। आइजोल पूर्व 1 की सीट से मुख्यमंत्री जोरामथांगा हारे।

सेरछिप: जेडपीएम के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार लालदुहोमा ने कहा, ‘मिजोरम वित्तीय संकट का सामना कर रहा है। निवर्तमान सरकार से हमें यही विरासत मिलने वाली है। हम अपनी प्रतिबद्धता पूरी करने जा रहे हैं। वित्तीय सुधार आवश्यक है और उसके लिए हम एक संसाधन जुटाने वाली टीम बनाने जा रहे हैं।’

अभी तक 13 सीटों पर नतीजे सामने आ चुके हैं। जेडपीएम ने11 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है। वहीं अन्य दो सीटें अलग अलग पार्टी के पाले में गई हैं। एक सीट पर एनएमएफ और एक सीट पर भाजपा ने जीत दर्ज की है।

20 से ज्यादा सीटों पर आगे जोरम पीपुल्स मूवमेंट : जोरम पीपुल्स मूवमेंट के उपाध्यक्ष डॉ. केनेथ चावंगलियाना ने कहा, ‘फिलहाल हम 20 से ज्यादा सीटों पर आगे चल रहे हैं। मुझे लगता है कि हम पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे।’

 मिजोरम के स्वास्थ्य मंत्री हारे : चुनाव आयोग के अनुसार, मिजोरम के स्वास्थ्य मंत्री और एमएनएफ उम्मीदवार आर लालथंगलियाना दक्षिण तुईपुई सीट पर जेडपीएम के जेजे लालपेखलुआ से हार गए हैं। लालपेखलुआ को 5,468 वोट मिले जबकि मिजो नेशनल फ्रंट के उम्मीदवार आर लालथंगलियाना को 5,333 वोट मिले।

जेडपीएम के कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने राज्य चुनाव में पार्टी बढ़त दर्ज करने के बाद सेरछिप में जश्न मनाने के लिए मिठाइयां मंगवाईं। बता दें, जेडपीएम ने अभी तक छह सीटों पर जीत दर्ज कर ली है।

कौन कितने सीटों पर आगे :
1. जेडपीएम              27
2. एमएनएफ            09
3.कांग्रेस                  01
4. भाजपा                03

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *