Xpoz-स्पेशलप्रदेशयूपी एवं उत्तराखंड

यूपी : ज्ञानवापी के तहखाने में पूजा रहेगी जारी, हाईकोर्ट में आज की सुनवाई पूरी

वाराणसी-NewsXpoz : वाराणसी कोर्ट के आदेश के बाद ज्ञानवापी परिसर के व्यास तहखाने में 30 साल बाद पूजा-अर्चना हो रही है. वहां शंखनाद और घंटियों के साथ हर हर महादेव के नारे गूंजे. दूसरे दिन भी ज्ञानवापी में बड़ी संख्या में भक्त भगवान के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. दूसरी तरफ, ज्ञानवापी के व्यास तहखाने में पूजा के खिलाफ मुस्लिम पक्ष ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. इसके अलावा वाराणसी बंद का भी ऐलान किया है. इस बीच, वाराणसी पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है.

बुधवार को कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार को भक्तों ने मंदिर में दर्शन करना शुरू कर दिया और शुक्रवार को भी सुबह से ही मंदिर के बाद भक्तों की लाइन लग गई है. बता दें कि ज्ञानवापी केस में मुस्लिम पक्ष की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज की सुनवाई पूरी हो गई है. मस्जिद कमेटी को कोई राहत नहीं मिली है. मस्जिद कमेटी की याचिका में व्यास तहखाना में पूजा पर रोक लगाने की मांग की गई है. ज्ञानवापी से जुड़ा हर अपडेट यहां जानिए.

ज्ञानवापी मामले के लेटेस्ट अपडेट :

– इलाहाबाद हाईकोर्ट में ज्ञानवापी मामले की आज की सुनवाई पूरी हो गई है. मस्जिद कमेटी को आज हाईकोर्ट से कोई राहत नहीं मिली. ज्ञानवापी स्थित तहखाने में पूजा पाठ जारी रहेगा. अगली सुनवाई 6 फरवरी को होगी.

– ज्ञानवापी मामले की इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है. तहखाने में पूजा की अनुमति पर रोक लगाने की मांग मस्जिद कमेटी कर रही है. जस्टिस रोहित रंजन अग्रवाल की सिंगल बेंच में सुनवाई हो रही है. बीते बुधवार को जिला जज वाराणसी ने ज्ञानवापी स्थित तहखाने में पूजा की अनुमति दी थी. मस्जिद की इंतजामिया कमेटी ने पूजा की अनुमति आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती दी है. पूजा स्थल अधिनियम 1991 का हवाला देते हुए रोक की मांग की है.

– ज्ञानवापी मामले में सुनवाई करने वाली इलाहाबाद हाईकोर्ट की बेंच बैठ चुकी है. कोर्ट में दूसरे मुकदमों की सुनवाई शुरू हो गई है. करीब एक घंटे बाद ज्ञानवापी मामले की सुनवाई होगी. जस्टिस रोहित रंजन अग्रवाल की बेंच में मामले की सुनवाई होनी है.

– ज्ञानवापी में प्रतीक्षा कर रहे नंदी की तस्वीर वायरल हो रही है. नंदी के सामने की बैरिकेडिंग का एक हिस्सा खाली हुआ. व्यास जी के तहखाने की ओर बैरिकेडिंग का रास्ता जाता है.

– इलाहाबाद हाईकोर्ट आज सुबह दस बजे मस्जिद कमेटी की याचिका पर सुनवाई करेगा. जस्टिस रोहित रंजन अग्रवाल की सिंगल बेंच में इसकी सुनवाई होगी. मस्जिद की इंतजामिया कमेटी ने जिला जज वाराणसी के ज्ञानवापी स्थित तहखाने में पूजा की अनुमति दिए जाने के फैसले को चुनौती दी है.

– जुमे की नमाज को लेकर आज पूरे यूपी में अलर्ट जारी किया गया है. प्रमुख मस्जिदों में नमाज के वक्त पुलिस को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रखने के पुलिस मुख्यालय से निर्देश दिए गए हैं.

– मुस्लिम पक्ष ने जिला अदालत के फैसले के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया. अदालत में दाखिल याचिका में मंदिर में पूजा पाठ पर रोक की मांग की गई है. मस्जिद कमेटी ने पूजा स्थल अधिनियम 1991 का हवाला देते हुए वाराणसी कोर्ट के फैसले को चुनौती दी है. मस्जिद इंतजामिया कमेटी की अपील पर हाईकोर्ट आज सुनवाई करेगा.

– आपको बता दें कि इससे पहले मुस्लिम पक्ष पहले सीधे सुप्रीम कोर्ट पहुंचा था. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें हाईकोर्ट जाने की नसीहत दी. दूसरी तरफ, ज्ञानवापी में व्यास जी का तहखाना खोले जाने के बाद वहां की तस्वीरें और वीडियो तेजी से वायरल हो रहे हैं. इसमें ज्ञानवापी परिसर में मौजूद, नंदी जी की प्रतिमा के सामने पूजा अर्चना हो रही है. तहखाने में पूजा-पाठ शुरू होने से भक्त खुशी से फूले नहीं समा रहे. शिव भक्तों ने इस मौके पर मिठाईयां भी बांटी.

– ASI रिपोर्ट के आधार पर वाराणसी जिला अदालत ने व्यास परिसर में पूजा पाठ की अनुमति क्या दी. मुस्लिम पक्ष हर तरीके से इसके विरोध में उतर आया. मुस्लिम पक्ष ने कोर्ट में पूजा पर रोक की याचिका दाखिल की है. तो वहीं मुस्लिम संगठनों ने वाराणसी बंद का ऐलान किया है. जिसके तहत आज मुस्लिम इलाकों में दुकानें और बाजार बंद रहेंगे. मुस्लिम संगठनों ने इस दौरान जुमे की नमाज शांतिपूर्ण तरीके से अता करने की अपील की है. इस बीच वाराणसी में ज्ञानवापी के आसपास एहतियातन सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

– आपको बता दें कि वाराणसी कोर्ट के फैसले पर सियासत गरमाई हुई है. कोर्ट के आदेश से हिंदू पक्ष में खुशी का माहौल है. तो मुस्लिम पक्ष इसे एकतरफा आदेश बताकर इसकी मुखालफत कर रहा है. इस मुद्दे पर दिल्ली में मुस्लिम संगठनों की बैठक हुई. जिसमें ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य अरशद मदनी और दूसरे मुस्लिम धर्मगुरु और AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी भी शामिल हुए. ये बैठक करीब तीन घंटे चली. इस दौरान लिए गए फैसले की जानकारी नहीं मिल पाई है. माना जा रहा है कि आज प्रेस कान्फ्रेंस कर मुस्लिम संगठन कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं.

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *