Xpoz-स्पेशलप्रदेशयूपी एवं उत्तराखंड

श्री राम मंदिर : अब श्वेत रंग में भी विराजेंगे श्रीराम, दूसरी प्रतिमा की दिव्य तस्वीर

अयोध्या धाम-NewsXpoz : अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हो चुकी है. भगवान श्री राम की श्याम रंग की प्रतिमा की चर्चा अब भी हो रही है. प्रतिमा की दिव्यता लोगों के जेहन में समा चुकी है. अब अयोध्या मंदिर में स्थापित की जाने वाली भगवान श्रीराम की श्वेत रंग की प्रतिमा सामने आई है. यह प्रतिमा भी बेहद आकर्षक है और इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं.

दो मूर्तियों का हुआ चुनाव : अवध के राजा और करोड़ों हिंदुओं के आराध्य भगवान श्रीराम की प्रतिमा बड़े हर्षोल्लास के साथ अयोध्या के नए मंदिर में स्थापित हो चुकी है. भगवान श्रीराम की प्रतिमा बनाने का काम तीन मूर्तिकारों को सौंपा गया था. जिनमें से दो मूर्तियों को अंतिम रूप से चुना गया और आखिरकार मैसूर के अरुण योगीराज की बनाई प्रतिमा को मंदिर में प्रतिष्ठापित कर दिया गया.

निलांबुजम श्यामम कोमलांगम.. : शास्त्रों में वर्णन है, ‘निलांबुजम श्यामम कोमलांगम…’ इसलिए श्यामल रंग की ही श्रीराम की मूर्ति को गर्भ गृह में स्थान दिया गया है. जबकि शेष दो मूर्तियों को मंदिर में अन्य स्थानों पर जगह दी जाएगी. ये वे दो प्रतिमाएं हैं जिन्हें गर्भगृह में स्थापित करने के लिए नहीं चुनी गई. लेकिन अब इस मूर्ति को राम मंदिर के प्रथम तल पर लगाया जा सकता है. ये मूर्ति राजस्थान की राजधानी जयपुर के रहने वाले सत्यनारायण पाण्डे ने सफेद मकराना संगमरमर से बनाई है.

दूसरी मूर्ति श्वेत वर्ण की : दूसरी मूर्ति श्वेत वर्ण की है. इसमें भगवान राम के चरणों में हनुमान जी भी विराजित हैं. वहीं, भगवान विष्णु के अवतारों को चारों तरफ बनाया गया है. इसमें भगवान विष्णु के 10 अवतारों की आकृतियां भी बनाई गई हैं. जिनमें.. 1- मत्स्य, 2- कूर्म, 3- वराह, 4- नरसिंह, 5-वामन, 6- परशुराम, 7- राम, 8- कृष्ण, 9- बुद्ध और 10वां अवतार कल्कि है.

रामलला की तीसरी प्रतिमा भी : रामलला की तीसरी प्रतिमा भी तैयार है. जिसे कर्नाटक के गणेश भट्ट ने बनाया है. हालांकि अभी उसकी तस्वीर सार्वजनिक नहीं की गई है. बताया जा रहा है कि उसे भी राम मंदिर में ही स्थापित किया जाएगा. राम मंदिर के गर्भगृह में स्थापित प्रतिमा की ऊंचाई 51 इंच बहुत सोच समझकर रखी गई है. अमूमन भारत में 5 साल के बच्चे की लंबाई 51 इंच के आस-पास होती है साथ ही 51 शुभ अंक माना जाता है. यही वजह है कि गर्भगृह में इस प्रतिमा को स्थापित किया गया.

रोजाना 5 आरती होगी : रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के छठे दिन राम मंदिर में खास पूजा का आयोजन होगा और अब से रोजाना भगवान राम के वस्त्र बदले जाएंगे. साथ ही रोजाना 5 आरती भी होगी. सबसे पहले सुबह 6:30 बजे मंगला आरती होगी. उसके बाद  सुबह 7:30 बजे शृंगार आरती, दोपहर 12:30 बजे भोग आरती फिर शाम 6 बजे संध्या आरती होगी और रात 9 बजे शयन आरती की जाएगी. एक बार में सिर्फ 30 लोग ही आरती में शामिल हो सकते हैं. राम मंदिर सुबह 7 बजे से दोपहर 11:30 बजे तक और दोपहर में 2 बजे से 7 तक दर्शन के लिए खुला रहेगा. दोपहर में करीब ढाई घंटे भोग और विश्राम के लिए मंदिर बंद रहेगा. शाम को 7 बजे के बाद अभी रामलला के दर्शन नहीं होंगे.

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *