दिल्ली-राजस्थान एवं हरियाणाप्रदेश

हरियाणा : नूंह में कुआं पूजन के लिए जा रही महिलाओं पर मदरसे से हुआ पथराव

नूंह-NewsXpoz : हरियाणा के नूंह जिले में एक बार फिर तनाव बन गया है. पुलिस के मुताबिक देर शाम कुछ महिलाएं कुआं पूजन के लिए मंदिर जा रही थी. तभी बड़ी मस्जिद के ऊपर से उपद्रवियों ने उन पर पथराव कर दिया. घटना में कई महिलाएं घायल हो गईं, जिसमें एक हालत गंभीर बताई जा रही है. मामले की सूचना मिलते ही एसपी नरेंद्र सिंह पुलिस बल के साथ तुरंत मौके पर पहुंचे और हालात पर काबू पाया.

इस घटना का पीड़ित परिवार और शहर के कुछ लोगों ने कड़ा विरोध किया था. कुछ लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सड़क जाम कर दी. इसी बीच बड़े मदरसे के मुफ्ती जाहिद भी मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास किया. मामला बढ़ता देख पुलिस कप्तान नरेंद्र बिजारणिया खुद मौके पर पहुंचे और पुलिस ने वहां जमा भीड़ को तितर-बितर किया. पुलिस कप्तान ने साफ कहा कि इस मामले में जो भी दोषी होगा उसे किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा. समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने किसी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया था, लेकिन पुलिस कार्रवाई जारी थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमांक 10 निवासी दयाराम के पुत्र दीपू को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई थी। हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार घर और आसपास की कुछ महिलाएं कुआं पूजन के लिए कैलाश मंदिर जा रही थीं। जाते समय किसी ने उन पर एक-दो पत्थर फेंके। इसे नजरअंदाज कर महिलाएं कुआं पूजन करने चली गईं। आरोप है कि आते समय शहर के बड़े मदरसे से कुछ शरारती तत्वों ने उन पर फिर से पथराव कर दिया. इसमें कई महिलाओं को चोट आयी.

महिलाओं पर मदरसे से बरसाए गए पत्थर : एसपी ने बताया कि महिलाएं गीत गाते हुए कुआं पूजन के लिए जा रही थी. तभी मदरसे के ऊपर से कट्टरपंथियों ने उन पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए. इस घटना में कई महिलाओं को चोटें आने की जानकारी मिली है. उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया गया है. घटना के बाद इलाके में फिर से पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

आरोपियों को चिह्नित कर लिया गया : एसपी नरेंद्र सिंह के मुताबिक घटना में शामिल कई आरोपियों को चिह्नित कर लिया गया है. उन्हें जल्द ही पकड़ लिया जाएगा. मदरसे के मौलवी पर भी कार्रवाई की जाएगी. घटना के बाद दोनों समुदाय के लोग इकट्ठा हो गए थे. उन्हें समझा बुझाकर वापस भेजा गया है. उन्होंने चेतावनी दी कि अगर किसी ने हालात बिगाड़ने की कोशिश की तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

इस साल 28 जुलाई को भड़की थी हिंसा : बताते चलें कि विहिप ने इस साल 28 जुलाई को नूंह में जलाभिषेक यात्रा का आयोजन किया था, जिस पर बड़े पैमाने पर हमला किया गया था. उपद्रवियों ने इस यात्रा में शामिल लोगों की दर्जनों गाड़ियां जला दी थीं. साथ ही उन पर गोलियों और धारदार हथियारों से भी वार किया था. इसकी प्रतिक्रिया में गुरुग्राम और फरीदाबाद में दंगे भड़क उठे थे, जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी. उसके बाद पुलिस ने जब दंगाइयों पर नकेल कसी तो इलाके में धीरे-धीरे शांति आने लगी थी. लेकिन अब फिर हालात खराब करने की कोशिश की गई है.

Plz Download the App for Latest Updated News : NewsXpoz 

Posted & Updated by : Rajeev Sinha 

NewsXpoz Digital

NewsXpoz Digital ...सच के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *